ये दस्ता है दिनेस लाल यादव की जिन्हें दुनिया निरहुआ के नाम से जानती है इनका जनम 2 FEB 1979  को गाजीपुर में हुआ था 

ये दस्ता है दिनेस लाल यादव की जिन्हें दुनिया निरहुआ के नाम से जानती है इनका जनम 2 FEB 1979  को गाजीपुर में हुआ था 

इनके दो भाई है विजय लाल यादव और प्रवेश लाल यादव  दिनेश लाल यादव निरहुआ बन्ने से पहले गाजीपुर के तन्द्वा गाव में रहेते था 

इनके दो भाई है विजय लाल यादव और प्रवेश लाल यादव  दिनेश लाल यादव निरहुआ बन्ने से पहले गाजीपुर के तन्द्वा गाव में रहेते था 

Iइनके परिवार की माली हालत ठीक नही थी एक असा वक़्त था जब इनके पिता मेहनत मजदूरी कर के मात्र तीन हज़ार कमाते थे 

Iइनके परिवार की माली हालत ठीक नही थी एक असा वक़्त था जब इनके पिता मेहनत मजदूरी कर के मात्र तीन हज़ार कमाते थे 

और इसी में 7 लोगो का परिवार चलता था घर चलाने के लिए और पैसे चाहिए थे इसलिए इनके पिता दोनों बेटे को ले कर चले गये कोलकाता 

और इसी में 7 लोगो का परिवार चलता था घर चलाने के लिए और पैसे चाहिए थे इसलिए इनके पिता दोनों बेटे को ले कर चले गये कोलकाता 

और पीछे अपनी पत्नी और तीन बेटियो को गाव में ही रहेने दिया कोलकाता सेहर में दिनेश लाल ने काफी संघर्सा किया 

और पीछे अपनी पत्नी और तीन बेटियो को गाव में ही रहेने दिया कोलकाता सेहर में दिनेश लाल ने काफी संघर्सा किया 

ये लोग कोलकाता में एक झोपड़ पती में रहा करते थे पिता जानते थे की घर की हालत ठीक नही है इसलिए दिनेश को कहेते जाओ बीटा नोकरी करो 

ये लोग कोलकाता में एक झोपड़ पती में रहा करते थे पिता जानते थे की घर की हालत ठीक नही है इसलिए दिनेश को कहेते जाओ बीटा नोकरी करो 

पर दिनेश लाल यादव का मन लगता गायकी में हलाकि सुरुवाती पढाई लिखी कोलकाता सेहर में ही की सन 1997 में ये लोग वापस अपने गाव लोट आये 

पर दिनेश लाल यादव का मन लगता गायकी में हलाकि सुरुवाती पढाई लिखी कोलकाता सेहर में ही की सन 1997 में ये लोग वापस अपने गाव लोट आये 

इसके बाद दिनेश लाल में घज़िपुर के मानिकपुर कॉलेज से बीकॉम की पढाई की दिनेश लाल के पिता चाहते थे दिनेश आगे जाकर कोई अच्छी सी नोकरी करे 

इसके बाद दिनेश लाल में घज़िपुर के मानिकपुर कॉलेज से बीकॉम की पढाई की दिनेश लाल के पिता चाहते थे दिनेश आगे जाकर कोई अच्छी सी नोकरी करे 

पर जहा कलाकरी में मन लग गया फिर वोह कहा मन लगेगा दिनेश लाल को निरहुआ बनने में अभी समय था पर use पहले अपने चचरे भाई 

पर जहा कलाकरी में मन लग गया फिर वोह कहा मन लगेगा दिनेश लाल को निरहुआ बनने में अभी समय था पर use पहले अपने चचरे भाई 

बिरहा गायक विजय लाल से ये काफी प्रेदित हुए और सुनही के देखन देखि गायकी की दुनिया में कदम बढाया फिर उन्हें एक म्यूजिक अल्बल्म मिला 

बिरहा गायक विजय लाल से ये काफी प्रेदित हुए और सुनही के देखन देखि गायकी की दुनिया में कदम बढाया फिर उन्हें एक म्यूजिक अल्बल्म मिला